Sunday, 19 July 2015

गम की कहानी

Think About India



कोई कविता लिखता है

कोई कहानी लिखता है 
सभी अपने गम की जुबानी लिखते हैं 
पर मुझमें तो ओ हुनर भी नहीं दोस्तों 
शायद इसीलिए हमारी आँखें पानी लिखती हैं