Monday, 7 December 2015

हँसना और हसते मरना

Think About India




ये जंगली पौधे कहाँ से उगते 
कैसे मिलती जिजीविषा 
कि कैसे होता पोषण? 
खड़े हैं, सूखा,पाला,लू सहते

कभी न वह भिक्षुक बनते 
फूल भी लगते, फल भी लगते 
बढ़ते और बढ़ते रहते 
एक लगाया घर पौधा 
खाद, पानी, मौसम बदला 
फिर भी वह मुरझाया रहता
जंगल राजा, सिखला दो 
इसको भी जीवन जीना 
हँसना और हसते मरना 
***************************************